अंतर्राष्ट्रीय बुद्ध पूर्णिमा दिवस समारोह 4 मई को तालकटोरा स्टेडियम में



अंतर्राष्ट्रीय बुद्ध पूर्णिमा दिवस समारोह 4 मई, 2015 को तालकटोरा स्टेडियम, नई दिल्ली में 9 बजे से आयोजित किया जा रहा है। भगवान बुद्ध का जन्म लुंबनी में हुआ, ज्ञान बोध गया में प्राप्त हुआ और निर्वाण कुषीनगर में। यह एक संयोग है कि एक ही दिन में ये जीवन की तीनों घटनाएं घटीं हैं। इस अति महत्त्वपूर्ण कार्यक्रम को देश के प्रधानमंत्री, श्री नरेन्द्र मोदी जी संबोधित करेगें। इस कार्यक्रम का आयोजन मुख्य रूप से गृह राज्य मंत्री, श्री किरन रिजीजू एवं सांसद डॉ0 उदित राज द्वारा किया जा रहा है और सांस्कृतिक मंत्रालय, भारत सरकार का सहयोग इस कार्यक्रम को सम्पन्न कराने हेतु मिल रहा है।

डॉ0 उदित राज, सांसद एवं राष्ट्रीय चेयरमैन, अनुसूचित जाति/जन जाति संगठनों का अखिल भारतीय परिसंघ एवं लॉर्ड बुद्धा क्लब ने कहा कि कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए हजारों कार्यकर्त्ताओं को जयंती में भाग लेने के लिए आवाहन किया जा रहा है। उन्होंने बुद्ध पूर्णिमा दिवस समारोह का महत्त्व बताते हुए कहा कि इसका असर राष्ट्र तक ही नहीं बल्कि अंतर्राष्ट्रीय स्तर तक होगा। भगवान गौतम बुद्ध की विचारधारा एवं दर्शन को जो महत्त्व और स्थान मिलना चाहिए, इस सरकार के सहयोग से शुरुआत हो गयी है। दुनिया में बीसों ऐसे देश हैं, जहां बौद्ध धर्म राजधर्म हो चुका है। इस कार्यक्रम से न केवल विदेश नीति पर प्रभाव पड़ेगा बल्कि देश-विदेश से पर्यटक भी आकर्षित होगें। उत्तर-पूर्वी देशों से निवेश बढ़ेगा और सांस्कृतिक व व्यापारिक संबंध मजबूत होगें। दुनिया में शांति भंग, असहिष्णुता, आतंकवाद आदि को कमजोर करने के लिए भगवान बुद्ध की विचारधारा बहुत प्रभावशाली होगी। भारत सरकार के द्वारा कार्यक्रम करने से बौद्ध धर्म से संबंधित संस्थाओं को मजबूती एवं सुरक्षा मिलेगी।

HIGHLIGHTS

Facebook

Tweets

Instagram