आम आदमी का बजट या आम आदमी पार्टी का मेनिफेस्टो



आम आदमी की सरकार बता कर दिल्ली की सत्ता पर काबिज हुयी केजरीवाल सरकार पूर्ण रूप से हवाई बजट प्रस्तुत किया। क्या ये आम आदमी की रायसुमारी का बजट है ???

· माल वाहक वाहनो को 100 रुपये से लेकर 1500 रुपये तक टैक्स बढ़ा दिया, इससे आम जनता की बेसिक जरूरते (चावल, दाल, तेल, सब्जी, और दूध आदि) भी महगी हो जाएगी और व्यापरियो पर बोझ बढ़ेगा।

· आम आदमी पार्टी की सरकार दलित, अल्पसंख्यकों, झुग्गी झोपड़ी व अवैध कॉलोनियों में रहने वाले लोगों को झूठे ख्वाब दिखाकर सत्ता में आई थी लेकिन वित्त मंत्री ने अपने ढ़ाई घंटे के भाषण में 5 मिनट भी इन लोगों के लिए कुछ नहीं कहा।

· मनोरंजन टैक्स 20% से 40% बढ्ने से आम आदमी की खुशियो पर ग्रहण लग गया।
· प्राप्रट्री लेना अब सपनों मे ही सीमित हो गया
· स्वराज की बात लेकिन बजट मे सिर्फ 253 करोड़ का प्रावधान है जो बजट का सिर्फ 0.65% है
· बजट में स्वास्थ्य पर अधिक राशि की व्यवस्था का दावा किया गया है लेकिन हैरानी की बात यह है कि जो अस्पताल बनकर तैयार खड़े हैं, उन्हें चालू करने की कोई व्यवस्था नहीं की गई।

· वाईफाई के लिए सिर्फ 50 करोड़ रुपये का प्रावधान किया। इन 50 करोड़ रुपये में सरकार कैसे सभी गांवों और कॉलेजों में वाई फाई मुहैया कराएगी यह समझ से परे है।

दिल्ली का सांसद होने के नाते हम इस हवा-हवाई बजट का विरोध करते हैं, आप आदमी की सरकार बता कर माननीय केजरीवाल जी ने आप आदमी की कमर तोड़ दी ।

HIGHLIGHTS

Facebook

Tweets

Instagram